SIP Mutual Funds - What is SIP? - best mutual funds for sip

नमस्कार दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं best mutual funds for sip और इसके फायदे और नुकसान क्या है आज हम इसी के बारे में बात करने वाले हैं। sip कि full form है Systematic investment plan तो चलिए शुरू करते हैं|




Sip mutual funds| sip क्या है.
Sip mutual funds



best mutual funds for sip और sip के फायदे और नुकसान क्या है । अक्सर हमने कई बार सुना है कि बूंद बूंद से घड़ा भरता है और यह बात सौ प्रतिशत सही भी है क्योंकि निवेश के मामले में भी यही बात लागू होती है what is sip mutual fund में  यह कोई जरूरी नहीं है कि बड़ी राशि कमाने के लिए हमेशा बड़ा ही निवेश करना पड़े, ऐसा करने से व्यक्ति की आर्थिक स्थिति पर बिना जरूरत का बोझ पड़ जाता है, इसीलिए अगर नियमित रूप से छोटी छोटी अवधि में भी निवेश किया जाए तो लंबे समय के बाद एक बहुत बड़ा अमाउंट कोष तैयार हो जाता है, और वो भी बिना किसी जोखिम और नुकसान और ठीक उसी तरह सिप(sip) भी काम करता है।



What is SIP है(systematic investment plan) सिस्टेमेटिक इन्वेसमेंन्ट प्लान होता है सिप को आसान शब्दों में समझा जाएं तो एक ऐसा इन्वेस्टमेंट जो कि थोड़ा-थोड़ा किया जा सकता है जो अपने बैंक अकाउंट से कनेक्ट करकें एक बार आपको अमाउंट फिक्स करना होता है जो हर महीने automatically कट हो  कर sip mutual funds में जमा हो जाता है जो बाद में आपको एक अच्छी आमदनी दे सकता है।


जैसा मैने आपको बताया sip सिप मे आपको हर महीने थोड़ा पैसा अलग से निकलना होता है लेकिन आप भी best mutual funds के जरिए भी कर सकते हैं बस इसके लिए आपको थोड़ा रिसर्च करके कोई अच्छा प्लान funds house निकाल कर select करना पड़ता है।और उसमें आपके risk reward के अनुसार एक फिक्सिंग अमाउंट को डालना पडता है।


sip kya hai सिप sip बहुत कम नुकसान के साथ निवेश करने का बहुत ही सरल संसाधन है,जो आप हर महीने एक निश्चित रूप में निवेश के लिए रकम निकाल कर invest करें और एक लम्बी अवधि के लिए बचत कर सकते हैं और आप निवेश की हुई राशि को लम्बे समय में एक मोटी रकम प्राप्त कर सकते हैं।


हर निवेशकों को sip जरिए निश्चित रकम निश्चित अवधि के लिए mutual funds, share market, या फिर GOLD ETF आदि में निवेश करना ही पडता है, जिन लोगों को शेयर बाजार के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है और शेयर बाजार के कार्य करने के तरीके  से अनजान है तो उन लोगों के लिए sip के जरिए निवेश करना एक बहुत ही अच्छा उपाय है। सिप मे निधारित समय के लिए एक निधारित रकम को निवेश करना होता है ।


sip mutual fund  सिप मध्य वर्गीय लोगों की पहुंच तक लाया गया है सिप उन लोगों को भी निवेश करने योग्य बनाता है जिसका बजट काफी कम low होता है जो एक ही बार में बडा निवेश करने में असमर्थ है ।उन लोगों के लिए sip ने  छोटा investment प्लान तैयार किया है, जो हर महीने ₹500 से 1000 रुपये निवेश कर सकते हैं ।तो सिप के जरिए मध्य वर्गीय परिवार भी छोटी रकम को निवेश कर एक लम्बे समय की अवधि के बाद मोटी कमाई कर सकते है।

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि किसी कंपनी के फंड का NAV ₹12 रुपये है तो आप ₹1200 निवेश करके उस कंपनी की 100 यूनिट प्राप्त कर लोगें।और जब भी उस कंपनी से बाहर निकलना चाहोगे तो अपनी खरीदी हुई यूनिट को इस समय पर चल रहे types of mutual funds के हिसाब से मुनाफा कमा सकते है।यहां ऊक गाइड है इसें जरूर पढें।



Mutual funds क्या है। what is mutual funds


सिप के फायदे-benefits of mutual funds | 



Sip के फायदे की बात करें तो sip सिप मे कई सारे फायदे हैं ,जैसा कि निवेश मे सरलता टैक्स मे छुट आदि इसके अलावा अन्य बहुत सारे फायदे हैं जो नीचें हम विस्तार से इसके बारे जानते हैं ।तो चलिए जानते हैं benefits of sip के क्या क्या फायदे हैं।


•निवेश करने में सरलता-सिप sip मे निवेश करना बहुत ही सरल होता है इसके लिए आपको चिन्तित होने की जरूरत नहीं होती बस एक बार funds को select कर लेने के बाद निश्चित हर महीने की तारीख को mutual fund अपने बैंक खाते से रकम निकाल कर आपके सुनें हुए fund मे डाल दिया जाता हैं।


Sip mutual funds स्किम वाले अकाउंट से आपका बैंक अकाउंट लिंक कर दिया जाता है जैसे आपका fund प्लान है हर महीने ₹1000 निवेश करने का तो आपके बैंक अकाउंट से हर महीने ₹1000 automtic sip वाले अकाउंट मे transfer हो जाता है उन रुपयों का इस्तेमाल यूनिट खरीदने में किया जाता है जिससें आपको भविष्य में ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाने को मिल सकें।





•रिस्क में कमी- sip सिप का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें आपको जोखिम बहुत कम उठाना पड़ता है।मान लिया कि आपके पास दस हजार रुपये पडे हैं और आप इसें शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं और आपने उन रुपयों को शेयर बाजार में एक साथ लगा दिया,अभी अगले दिन  बाजार ऊपर जाएगा अथवा नीचें जाएगा यह आप नहीं जानते है , यह बहुत ही जोखिम भरा सौदा होता है 



अगर यहीं निवेश आप थोड़े-थोड़े किस्तों में बाट दिया जाएं तो यही जोखिम बिल्कुल कम हो जाता है,इस ₹10000 रुपयों को हम ₹1000 कि 10 किस्तों मे जमा कर दिया जाए तो शेयर बाजार के इस नुकसान को खुद को बसा सकते हैं, ठीक इसी तरह Sip हमें बडी़ रकम एक साथ न लगाने कि वजह छोटी-छोटी रकम निवेश करके शेयर बाजार के इस नुकसान से बचा जा सकता है।


छोटा निवेश- जैसा कि हम सब जानते हैं कि इसमें निश्चित व नियमित रूप से एक निश्चित राशि का ही निवेश करना होता है, इसलिए अपनी दिनचर्या और खर्चों से निवेश के लिए रकम निकाल पाना बहुत ही सरल होता है निश्चित रूप से छोटी राशि को आप निरंतर रूप से एक लम्बे समय तक निवेश करके एक बडी़ राशि प्राप्त कर सकते है।



अगर आप हर महीने 10 प्रतिशत ब्याज रिटर्न की दर से ₹1000 निवेश करते है तो 15 सालों के बाद आपको आपके द्वारा निवेश की गई की अवधी पूरी होने पर आपको लगभग ₹414,500  मिलेंगे. जबकि आपने इन 15 वर्षों में मात्र ₹1,80,000  ही जमा किये होंगे। SIP mutual funds में आप ₹500 से निवेश शुरू कर सकते है, जो कि आप एक लंबे समय में आपको अच्छा मुनाफा मिल सकती है।


टैक्स में छूट- Sip funds मे आप जब भी निवेश करते हैं तो आपको रकम को जमा करने पर या निकलने पर किसी प्रकार का कोई टैक्स नहीं लगता हैं लेकिन टैक्स फ्री देने वाले प्लान में lock-in period होता है जैसे 3 वर्ष 5 वर्ष इत्यादि इसमें निवेश करकें टैक्स फ्री पा सकते है।



सिप से पैसे निकालने की सुविधा- Sip के प्लानों मे ज्यादातर Lock-in Period नहीं होता है Lock-in Period वो समय होता है जिसका समय पूरा हुए बिना आप स्कीमों से अपना पैसा नहीं निकल सकते हैं। लेकिन Sip की ज्यादातर स्कीमों मे लाँक-इन पीरियड नहीं होता है ।



Sip मे निवेशकों को अपनी जरूरत के अनुसार अपनी निवेश रकम को जारी रखने या बंद करने का फैसला खुद ले सकता है।इससें निवेशकों को केवल अच्छा रिटर्न ही नहीं ब्लकि इसके साथ-साथ अपनी सुविधा के अनुसार एडवांस लिक्विडिटी भारत हासिल कर सकता है। सिप मे आप केवल ₹500 रूपये लगाकर invest कर सकते हैं 



आपको इसमें न केवल म्युचुअल फंड्स सुनने किया जरूरत होती है ब्लकि इसमें ज्यादातर Automatic ही होता है, sip मे आपको मुनाफा बहुत अधिक होता है और इसमें आपको नुकसान तो बिल्कुल न के बराबर होता है ।



Compounding-जब भी आप SIP मे निवेश करते हैं तो जो आपके द्वारा निवेश की हुई रकम पर जो भी ब्याज (रिटर्न) मिलता है उसें वापस से यही पर दोबारा निवेश कर दिया जाता है जिससें निवेशकों का मुनाफा बढ़ जाता है और उनकों होने वाली कमाई मे अधिक लाभ होता है इसें Compounding का लाभ कहा जाता है यानि ब्याज पर भी ब्याज मिलना इसें Compouding कहते है।


SIP के नुकसान


Sip सिप मे आपको हमेशा फायदा ही होता हैं लेकिन इसके अलावा कभी कभी नुकसान यानि घाटे का सौदा भी करना पड़ता है लेकिन ऐसी क्या क्या वजह है जिससे  आपको सिप sip मे नुकसान का सौदा करना पड़ता है तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से इसकी वजह जानते हैं।



फंड नहीं होना-Sip को Ecs के आदेश अनुसार हमेशा investment करना होता है अधिकतर Sip funds एक लम्बी अवधि के लिए होता है और ऐसे में कभी कभी हो सकता है कि sip funds के ग्राहकों के बैंक में कुछ वजह से पर्याप्त पैसे नहीं हो और हो सकता है कि Ecs बाउंस हो जाए, और ऐसी स्थिति में आपको भारी नुकसान की भरपाई करनी पड़ती है। इसलिए इस बार बात का विशेष ज्यादा रखें।



Sip mutual funds मे रिटर्न की कोई Guarantee नहीं होती है  ऐसा इसलिए होता है कि Portfolio का हिस्सा बनने वाला प्रत्येक व्यक्ति जोखिम का एक निश्चित तौर पर तत्व लिया जाता है इसी कारण कुछ ससाधनों मे जोखिम की मात्रा अधिक होती है और इसके अलावा sip mutual funds के रिटर्न भी बाजार से जुड़ी हुई होती है इसलिए mutual funds sip मे रिटर्न की कोई Guarantee नहीं होती हैं।



उम्मीद करता हूं दोस्तों आपको what is Sip सिप क्या होता है जानिए क्या है इसके फायदे और नुकसान जानकारी बहुत अच्छी लगी होगी और अच्छी तरह समझ में आईं होगी तो आपसे मुझे आशा है कि आप लोग इस जानकारी को अवश्य लाइक करेंगे और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करेंगे और इसी तरह की पोस्ट को पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करें।

Previous
Next Post »

Please do not enter any spam link in the comment box , ConversionConversion EmoticonEmoticon